Hindi Sahitya

Download Hindi Sahitya PDF/ePub or read online books in Mobi eBooks. Click Download or Read Online button to get Hindi Sahitya book now. This site is like a library, Use search box in the widget to get ebook that you want.

If the content Hindi Sahitya not Found or Blank , you must refresh this page manually.

Hindi Sahitya


 Hindi Sahitya
DOWNLOAD
READ ONLINE

Download Hindi Sahitya PDF/ePub, Mobi eBooks by Click Download or Read Online button. Instant access to millions of titles from Our Library and it’s FREE to try! All books are in clear copy here, and all files are secure so don't worry about it.



Hindi Sahitya Ka Itihas


Hindi Sahitya Ka Itihas
DOWNLOAD
READ ONLINE


Author : Acharya Ramchandra Shukla
language : hi
Publisher: Prabhat Prakashan
Release Date : 1952-01-01

Hindi Sahitya Ka Itihas written by Acharya Ramchandra Shukla and has been published by Prabhat Prakashan this book supported file pdf, txt, epub, kindle and other format this book has been release on 1952-01-01 with Literary Criticism categories.


हिंदी साहित्य का भंडार पर्याप्त समृद्ध है। गद्य तथा पद्य की लगभग सभी विधाओं का प्रचुर मात्रा में साहित्य-सर्जन हुआ है। अनेक कालजयी कृतियाँ सामने आईं। लेखक-कवियों ने भी सर्जना के उच्च मानदंड स्थापित किए, जिन पर साहित्य-सृजन को कालबद्ध किया गया; वह युग उनके नामों से जाना गया। आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने गहन शोध और चिंतन के बाद हिंदी साहित्य के पूरे इतिहास पर विहंगम दृष्टि डाली है। हिंदी भाषा के मूर्धन्य इतिहासकार- साहित्यकार आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने हिंदी साहित्य का जो इतिहास रचा है, वह सर्वाधिक प्रामाणिक तथा प्रयोगसिद्ध ठहरता है। इससे पहले भी हिंदी का इतिहास लिखा गया; पर आचार्यजी का ज्ञान विस्तृत फलक पर दिग्दर्शित है। इसमें आदिकाल यानी वीरगाथा काल का अपभ्रंश काव्य एवं देशभाषा काव्य के विवरण के बाद भक्तिकाल की ज्ञानमार्गी, प्रेममार्गी, रामभक्ति शाखा, कृष्णभक्ति शाखा तथा इस काल की अन्य रचनाओं को अपने अध्ययन का केंद्र बनाया है। इसके बाद के रीतिकाल के सभी लेखक-कवियों के साहित्य को इसमें समाहित किया है। अध्ययन को आगे बढ़ाते हुए आधुनिक काल के गद्य साहित्य, उसकी परंपरा तथा उत्थान के साथ काव्य को अपने विवेचन केंद्र में रखा है। हिंदी साहित्य का क्षेत्र चहुँदिशि विस्तृत है। हिंदी साहित्य के इतिहास को सम्यक् रूप में तथा गहराई से जानने-समझने के लिए आचार्य रामचंद्र शुक्ल का यह इतिहास-ग्रंथ सर्वाधिक उपयुक्त है।

Hindi Sahitya Ka Itihas Competitive Exam Book 2021


Hindi Sahitya Ka Itihas Competitive Exam Book 2021
DOWNLOAD
READ ONLINE


Author : Shyam Chandra Kapoor
language : hi
Publisher: Prabhat Prakashan
Release Date : 2009-01-01

Hindi Sahitya Ka Itihas Competitive Exam Book 2021 written by Shyam Chandra Kapoor and has been published by Prabhat Prakashan this book supported file pdf, txt, epub, kindle and other format this book has been release on 2009-01-01 with Study Aids categories.


हिंदी साहित्य का भंडार पर्याप्त समृद्ध है। गद्य तथा पद्य की लगभग सभी विधाओं का प्रचुर मात्रा में साहित्य-सर्जन हुआ है। अनेक कालजयी कृतियाँ सामने आईं। लेखक-कवियों ने भी सर्जना के उच्च मानदंड स्थापित किए, जिन पर साहित्य-सृजन को कालबद्ध किया गया; वह युग उनके नामों से जाना गया। आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने गहन शोध और चिंतन के बाद हिंदी साहित्य के पूरे इतिहास पर विहंगम दृष्टि डाली है। हिंदी भाषा के मूर्धन्य इतिहासकार- साहित्यकार आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने हिंदी साहित्य का जो इतिहास रचा है, वह सर्वाधिक प्रामाणिक तथा प्रयोगसिद्ध ठहरता है। इससे पहले भी हिंदी का इतिहास लिखा गया; पर आचार्यजी का ज्ञान विस्तृत फलक पर दिग्दर्शित है। इसमें आदिकाल यानी वीरगाथा काल का अपभ्रंश काव्य एवं देशभाषा काव्य के विवरण के बाद भक्तिकाल की ज्ञानमार्गी, प्रेममार्गी, रामभक्ति शाखा, कृष्णभक्ति शाखा तथा इस काल की अन्य रचनाओं को अपने अध्ययन का केंद्र बनाया है। इसके बाद के रीतिकाल के सभी लेखक-कवियों के साहित्य को इसमें समाहित किया है। अध्ययन को आगे बढ़ाते हुए आधुनिक काल के गद्य साहित्य, उसकी परंपरा तथा उत्थान के साथ काव्य को अपने विवेचन केंद्र में रखा है। हिंदी साहित्य का क्षेत्र चहुँदिशि विस्तृत है। हिंदी साहित्य के इतिहास को सम्यक् रूप में तथा गहराई से जानने-समझने के लिए आचार्य रामचंद्र शुक्ल का यह इतिहास-ग्रंथ सर्वाधिक उपयुक्त है।

Hindi Sahitya Ki Bhoomika


Hindi Sahitya Ki Bhoomika
DOWNLOAD
READ ONLINE


Author : Hazariprasad Dwivedi
language : hi
Publisher: Rajkamal Prakashan
Release Date : 2008-09-01

Hindi Sahitya Ki Bhoomika written by Hazariprasad Dwivedi and has been published by Rajkamal Prakashan this book supported file pdf, txt, epub, kindle and other format this book has been release on 2008-09-01 with Hindi literature categories.


Criticism on Hindi literature.

1000 Hindi Sahitya Prashnottari


1000 Hindi Sahitya Prashnottari
DOWNLOAD
READ ONLINE


Author : KUMUD SHARMA
language : hi
Publisher: Prabhat Prakashan
Release Date : 2009-01-01

1000 Hindi Sahitya Prashnottari written by KUMUD SHARMA and has been published by Prabhat Prakashan this book supported file pdf, txt, epub, kindle and other format this book has been release on 2009-01-01 with Study Aids categories.


वर्तमान युग में हर व्यक्‍त‌ि को जीवन के विभिन्न स्तरों पर अनेक प्रतियोगिताओं से गुजरना पड़ता है । राज्य स्तर पर और केंद्रीय स्तर पर विभिन्न महत्त्वपूर्ण संस्थानों के महत्त्वपूर्ण पदों के लिए ली जानेवाली प्रतियोगी परीक्षाओं में अन्य विषयों के साथ- साथ हिंदी भाषा और साहित्य से संबंधित वस्तुनिष्‍ठ प्रश्‍नों पर आधारित प्रश्‍न भी सम्मिलित होते हैं । इस पुस्तक में 1000 प्रश्‍नों को अठारह महत्त्वपूर्ण अध्यायों - भाषा, हिंदी साहित्य का इतिहास, कविता, कहानी, उपन्यास, नाटक, निबंध- आलोचना, रेखाचित्र- संस्मरण, आत्मकथा-जीवनी, यात्रा साहित्य, रिपोर्ताज, साक्षात्कार और पत्र साहित्य, काव्य शास्त्र, साहित्यिक पत्रकारिता, संस्थाएँ पुरस्कार, चित्रावली तथा विविध-में बाँटा गया है । प्रत्येक प्रश्‍न के लिए अध्याय का निर्धारण पाठकों की सुविधा के लिए किया गया है । समय की माँग और समय की कमी के कारण साहित्य के विराट‍् फलक में प्रवेश कर उसे आत्मसात् करने का अवसर बहुतों के पास नहीं है । यह पुस्तक बहुत सुगमता से ऐसे व्यक्‍त‌ियों को हिंदी साहित्य के महत्त्वपूर्ण बिंदुओं और वस्तुनिष्‍ठ तथ्यों से परिचित कराने की दिशा में एक सार्थक प्रयास है । पुस्तक में हिंदी साहित्य के व्यापक परिदृश्य पर फैले केंद्रीय और महत्त्वपूर्ण प्रश्‍नों को समेटने की कोशिश की गई है । भाषा संबंधी प्रश्‍नों के साथ-साथ हिंदी साहित्य का इतिहास, काव्य शास्त्र, साहित्यिक संस्थाओं, पुरस्कारों से संबंधित प्रश्‍न इसमें सम्मिलित हैं ।कुछ महत्त्वपूर्ण रचनाकारो की चित्रावली भी इसमें समाविष्‍ट है । यह पुस्तक अपने आपमें हिंदी साहित्य का इतिहास है ।

Hindi Sahitya Ka Doosara Itihas


Hindi Sahitya Ka Doosara Itihas
DOWNLOAD
READ ONLINE


Author : Bachchan Singh
language : hi
Publisher: Radhakrishna Prakashan
Release Date : 2004-01-01

Hindi Sahitya Ka Doosara Itihas written by Bachchan Singh and has been published by Radhakrishna Prakashan this book supported file pdf, txt, epub, kindle and other format this book has been release on 2004-01-01 with Hindi literature categories.


History of Hindi literature.

Hindi Literature In The Twentieth Century


Hindi Literature In The Twentieth Century
DOWNLOAD
READ ONLINE


Author : Hans Peter Theodor Gaeffke
language : en
Publisher: Otto Harrassowitz Verlag
Release Date : 1978

Hindi Literature In The Twentieth Century written by Hans Peter Theodor Gaeffke and has been published by Otto Harrassowitz Verlag this book supported file pdf, txt, epub, kindle and other format this book has been release on 1978 with Hindi literature categories.




Hindi Sahitya Aur Samvedana Ka Vikas


Hindi Sahitya Aur Samvedana Ka Vikas
DOWNLOAD
READ ONLINE


Author : Ram Swaroop Chaturvedi
language : hi
Publisher: Lokbharti Prakashan
Release Date : 2005-09-01

Hindi Sahitya Aur Samvedana Ka Vikas written by Ram Swaroop Chaturvedi and has been published by Lokbharti Prakashan this book supported file pdf, txt, epub, kindle and other format this book has been release on 2005-09-01 with Hindi literature categories.


Evolution of Hindi literature; a historical survey.